बोल्ट से छिन सकता है ओलंपिक गोल्ड मेडल

225

किंग्सटन। छह बार के ओलंपिक स्वर्ण पदक विजेता जमैका के स्टार धावक उसैन बोल्ट को अपने टीम साथी नेस्टा कार्टर की गलती का खामियाजा ओलंपिक स्वर्ण पदक गंवाकर उठाना पड़ सकता है।
बोल्ट ने वर्ष 2008 में बीजिंग ओलंपिक में रिले स्पर्धा का स्वर्ण जीता था लेकिन हाल ही में किये गये ड्रग्स परीक्षण में उनके रिले टीम साथी कार्टर के प्रतिबंधित ड्रग्स मेथाइलेक्सनामाइन के सेवन का दोषी पाये जाने के बाद उनका यह पदक उनसे छीना जा सकता है। दौड़ में कार्टर पहले चरण में जबकि बोल्ट अंतिम चरण में दौड़े थे।

जमैका ओलंपिक संघ (जेओए) ने पिछले सप्ताह अपने किसी खिलाड़ी के डोप टेस्ट में विफल रहने की बात कही थी । हालांकि उसने एथलीट का नाम नहीं लिया था। विश्व डोपिंग रोधी एजेंसी (वाडा) ने वर्ष 2004 में मेथाइलेक्सनामाइन को प्रतिबंधित ड्रग्स की सूची में शामिल किया था।
कार्टर जमैका की रिले टीम के अभिन्न सदस्य थे और उन्होंने वर्ष 2008,2012 में टीम को स्वर्ण पदक दिलाने में अहम भूमिका निभाई थी। वह वर्ष 2011,2013 और 2015 में विश्व चैंपियनशिप में भी स्वर्ण विजेता टीम के सदस्य रहे थे। बोल्ट के अलावा रिले टीम के अन्य सदस्य असाफा पावेल और मिशेल फ्राटेर डोपिंग टेस्ट में पाक साफ पाये गये।

इससे पहले वर्ष 2000 सिडनी ओलंपिक में चार गुणा 400 रिले स्पर्धा में स्वर्ण विजेता अमेरिकी टीम के सदस्य एंटोनियो पेटीग्रियू के डोभपग टेस्ट में विफल रहने के बाद टीम से स्वर्ण पदक वापस ले लिया गया था और इस बात की पूरी संभावना है कि अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति (आईओसी) कार्टर के दोषी पाये जाने के बाद जमैका टीम से स्वर्ण पदक वापस ले सकती है।

Source: Samachar Jagat

NO COMMENTS